Jyotsana Singh

jyotsanasingh

https://www.paperwiff.com/jyotsanasingh

“ज़िंदगी क्या है ? एक कहानी ही तो है।” मैं अनगढ़ बस कहानियाँ गढ़ती हूँ।

Jyotsana Singh
Jyotsana Singh 14 Sep, 2021 | 1 min read

श्यामली

आख़िर ऐसा क्या हुआ कि, श्यामली ने खुद की हथेलियों को नवीन हथेलियों में बेफ़िक्री से सौंप दिया और हल्का सा रोमांच महसूस करने लगी सूखी हुई रेत पर पानी की कुछ बूँदे पड़ी तो ठंढक देने को मचल उठी।

#Unique love #Love

Reactions 4
Comments 3
213
Jyotsana Singh
Jyotsana Singh 19 Jul, 2021 | 1 min read

कर्मभूमि

Microfables

#Rain #Liftbywords #paperwiffmicrofables #Paperwiff #Microfables

Reactions 1
Comments 0
129
Jyotsana Singh
Jyotsana Singh 18 Jul, 2021 | 1 min read

शबनम

“शबनम” यानी की ओस की बूँद यही नाम रखा था अब्बू ने उसका। उस ओस की बूँद को आँख का आँसू बनने में ज़्यादा वक़्त न लगा। मगर हर दर्द सहकर भी उसने अपने अश्क़ अपने में ही जब्त कर लिए।

#Influencer #Hindi #Romance

Reactions 9
Comments 4
757
Jyotsana Singh
Jyotsana Singh 30 Jun, 2021 | 1 min read

मिट्टी वाला घर

सेवियों के लिए दूध और शक्कर घर में है या नहीं इनकी बला से इन्हें तो सेवियाँ खानी है।

Reactions 4
Comments 5
619
Jyotsana Singh
Jyotsana Singh 15 Apr, 2021 | 1 min read

आजाद ख्याल

बदलते परिवेश के आजाद ख्याल का सच!

##summershortstoriea

Reactions 3
Comments 2
324