मां सरस्वती जी की आराधना।

सरस्वती मां की आराधना ....

Originally published in hi
Reactions 1
7
Akhilesh  Upadhyay
Akhilesh Upadhyay 04 May, 2021 | 1 min read

_मां सरस्वती जी की आराधना_


वीणा पाणी मां तू शारदे , 

वीणा की झंकार करो; 

ज्ञानदायिनी, हंसवाहिनी

 नमन मेरा स्वीकार करो।।


तू शंकर के डमरू में है ; 

तू राधा के घुंघरू में है;

तू मुरली की बंसी में है,

तू शक्ति के भक्ति में है ।

तन मन धन है सब कुछ तेरा,

 सबका मां उद्धार करो ; 

ज्ञानदायिनी, हंसवाहिनी

 नमन मेरा स्वीकार करो।।


तू जग जननी ,

मातृ कृपाला ;

दुख भय हरती,

करती निहाला।

दया दृष्टि कर दो 

हम पर मां , 

थोड़ा सा उपकार करो ;

ज्ञानदायिनी, हंसवाहिनी

 नमन मेरा स्वीकार करो।।


इस तमस को 

दूर कर दे ,

ज्योति वाहिनी 

ज्योति भर दे;

दिनन के दुख देख मां

सबके कष्ट , संताप हरो।

ज्ञानदायिनी, हंसवाहिनी

 नमन मेरा स्वीकार करो।।


वीणा पाणी मां तू शारदे , 

वीणा की झंकार करो; 

ज्ञानदायिनी, हंसवाहिनी

 नमन मेरा स्वीकार करो।।


धन्यवाद✍🏻✍🏻✍🏻


~Akhil upadhyay

@crux_of_akhil

@_just_akhi_

1 likes

Published By

Akhilesh Upadhyay

akhileshupadhyay

Comments

Appreciate the author by telling what you feel about the post 💓

  • Kumar Sandeep · 2 days ago last edited 2 days ago

    जय माँँ सरस्वती

Please Login or Create a free account to comment.